Header Ads Widget

विश्व मान्यता के लिए तालिबान का संग्राम, क्या होगा आगे?

taliban-take-over-afghanistan
Taliban take over Afghanistan

अमरीकी सैनिको की वापसी से पहले ही तालिबान ने अफ़ग़ानिस्तान के एक के बाद एक बड़े शहरों पर कब्ज़ा ज़माने के बाद रविवार को अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल पर कब्जा हासिल कर लिया और देश की  कमान अपने हातो में ले लिया जिसके चलते अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रध्यक्ष अशरफ गनी देश छोड़कर कर भाग गए।

मीडिया से संवाद करते हुए तालिबान ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अपने अस्तित्व को मान्यता देने की बात कही, इसपर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए अमेरिका के राष्ट्रध्यक्ष जो बाइडेन ने बहुत ही महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए कहा "तालिबान सम्पूर्ण विश्व में मान्यता प्राप्त करने के लिए संघर्ष कर रहा है, लेकिन तालिबान पहले से बदल गया है, ऐसा मै नहीं कहता।" 

तालिबान अमेरिकन नागरिकों को अफ़ग़ानिस्तान से सही सलामत वापस जाने देंगा या नहीं इसपर कुछ कहा नहीं जा सकता, क्योंकि तालिबान भरोसें के काबिल नही, लेकिन जबतक अमरीकी सैनिक वहा पर है, अमेरिकन नागरिक सुरक्षित वहा से बाहर निकल सकेंगे, ऐसा जो बाइडेन का कहना है।


तालिबान ने अफ़ग़ानिस्तान में इस्लामिक कानून लगाने की बात कही है, उनका कहना है की हम साथ मिलकर देश के पुराने वरिष्ठ नेताओं से बात-चित करके यहाँ 'इंक्लूसिव इस्लामिक सरकार' बनाएंगे, लेकिन अफगान लोगों को तालिबान पर भरोसा नहीं, उन्हें लगता है की तालिबान का सरकार दमनकारी और हिंसक होगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ